चोपना, दस साल से बिजली की समस्या से झूझ रहे आदिवासी ग्रमीण

चोपना, दस साल से बिजली की समस्या से झूझ रहे आदिवासी ग्रमीण
कलेक्टर के नाम ज्ञापन

 नित्यानन्द की रिपोर्ट:

चोपना : मामला चोपना क्षेत्र के कोल्हिया वन ग्राम में आने वाले सारंग ढॉना की है ग्रामीणों का कहना है कि पिछले 10 से 12 साल से गांव में बदहाल बिजली है जिससे गांव के बच्चों को चकनाचूर करना पड़ रहा है। सहारे पोकिंग करना पड़ता है जिसके कारण बच्चो के पॉकिंग पर भी बुरा असर पड़ रहा है और बिजली की वोल्टेज इतनी कम है कि बिजली के नंगे तारो को भी कोई भी आसानी से छूने वाले हैं जोक शिकायत सब स्टेशन चोपना, बिजली वितरण केंद्र शाहपुर, बिजली कार्यालय बैतुल, सेमी हेल्पलाइन नंबर 181, और जनप्रतिनिधियों को 10 साल से करते आ रहा है लेकिन कोई भी जिम्मेदार अधिकारी द्वारा अब तक कूच भी नहीं किया गया है और ग्रामीण तुलसी वाई, रामकिशोर, राधेश्याम, विस्वती वाई, कविता कासदे, & अशोक ने बताया कि 3 गाँव में सिर्फ एक ही ट्रांसफार्मर है और ट्रांसफार्मर अपने गाँव से लगभग 3 किलोमीटर दूर है और बहुत दूर से गाँव तक सिर्फ एक ही फेस की साफल्य है जिसके चलते बिजली एकदम ना के बराबर वोल्टेज रहती है और गाँव मे बिजली के खम्बे की स्थिति बहुत ही खराब है जगह जगह खेत खलिहान और मोहल्ले में लटक रही है बिजली के खंबे से लटके तार जो कि ग्रामीणों द्वारा खूंटी बुलली के सहारे दे। कर रखे हुए हैं जिससे कि कभी भी बड़ी हादसा हो सकती है जिसकी शिकायत कई बार करने पर भी जब कूछ नहीं हुआ तो ग्रामीणों ने बिजली बिल देना बंद कर दिया जिसके चलते बिजली विभाग शाहपुर द्वारा ग्रामीणों को नोटिस जारी कर दिया गया है जिससे ग्रामीणों में आक्रोश का माहौल है ग्रामीणों का साफ कहना है हमे अच्छे से बिजली दो और बिल लो बिना बिजली के हम किस बात की बिल करेंगे और ग्रामीणों ने बताया कि आगे कलेक्टर ो शिकायत करने जनसंपर्क में जाएंगे,