आम जन का पैसा डकार रही हैं सड़क ,हजम करने में मददगार हो रहा है प्रशासन

आम जन का पैसा डकार रही हैं सड़क ,हजम करने में मददगार हो रहा है प्रशासन
आम जन का पैसा डकार रही हैं सड़क ,हजम करने में मददगार हो रहा है प्रशासन
आम जन का पैसा डकार रही हैं सड़क ,हजम करने में मददगार हो रहा है प्रशासन
आम जन का पैसा डकार रही हैं सड़क ,हजम करने में मददगार हो रहा है प्रशासन

चिचोली : ऐसे तो भारत देश मे और उसमें भी भारत के गाँव की तरक्की का अंदाजा उस गांव में पहुचने वाली सड़क से लगाया जा सकता हैं किंतु जब सड़क ही दिखावटी व कमजोर हो तो फिर तरक्की का आप अंदाजा लगा ही सकते हो । हम बात कर रहे हैं लाखो क्या करोड़ो जो कि आम जनता की जेब से निकल कर सरकार के हवाले से ऐसे ठेकेदारों तक पहुँच जाता है जो कागजो में तो सुपर से भी ऊपर की सड़क बनाकर उसकी देख भाल करने की कसम खाते हैं किंतु जब हम उन सड़क पर चलकर देखे तो दूध का दूध और पानी का पानी अलग दिखाई देने लगता है । ऐसा ही नजार कुछ चिचोली ब्लाक के भीमपुर चिचोली मेन रोड से जोड़ती रतनपुर से आगे लगभग 10 गाँवो को जोड़ने वाली सड़क पर गए तो देखने मे आया कि जो मैटेरियल पुलिया या कहे ब्रिज में उपयोग होना था उसको गलती से सड़क बनने में उपयोग में लिया गया फिर तो मटेरियल भी अच्छा होना स्वभाविक था किंतु उस मे बस नाम मात्र के रेत व सीमेंट थी बस गिट्टी ही गिट्टी नजर आ रही थी । सड़क के निर्माण में न तो कही कासन बोर्ड लगा था न निर्माण हो रही सड़क की किनारों पर चलने वाले वाहनों के लिये संकेत या निसान । 2 दिन पहले बनी सड़क में टिडन के निसान साफ दिखाई दे रहे थे । जब हमारे द्वारा पूछा गया तो यह बताया गया। कि यह सीमेंट की गैस निकलने से हुई हैं इसका मतलब उस सड़क पर वाइब्रेंट का उपयोग भी नही हुआ । जानकारी यह भी बताई गई कि इस निर्माण में प्रशासन द्वारा कन्सलटेंट व इंजीनियर के होने के बाद भी इस तरह से सड़क निर्माण चल रहा हैं साथ मे अर्थ वर्क के कमजोर होने का संकेत सड़क पर आई दरारे बया कर रही हैं । इस तरह से यह कहना बिल्कुल सही होगा कि अंधेर नगरी चौपट राजा कोई नही देख रहा चलो खाये आधा आधा ।