ग्राम ससाबड, अंधरिया में तूफानी वर्षा और चक्रवाती हवा ने फसलें तबाह की।

ग्राम ससाबड, अंधरिया में तूफानी वर्षा और चक्रवाती हवा ने फसलें  तबाह की।
चक्रवाती तूफान और बारिश से तबाह फसल

आमला:  इतवार को ससाबड और अंधारिया क्षेत्र में शाम 5 बजे से तेज़ आंधी तूफान के साथ वर्षा होने से किसानों के खेत में लगी गन्ना, सोयाबीन, मक्का और अन्य बरसाती फसलें बर्बाद हो गई। 

नरेंद्र गड़ेकर ने बताया कि हवा की रफ्तार इतनी ज्यादा थी कि लगभग डेढ़ किलोमीटर क्षेत्रफल के आस- पास, बड़े - बड़े वृक्ष और बिजली के खंभे भी धराशाही होकर जमीन पर गिर पड़े।

इस आंधी, तूफान से किसान दुर्गादास पटवारी, हुकुमचंद मानकर, कमला पटवारी, मोहन नरवरे, सुखदेव घिघोडे, सुभाष सोलंकी, देवेन्द्र नरवरे, प्रेमलाल सोलंकी, किशोर धाकड़, लखन धाकड़,छ्तन धाकड,सन्तोष मानकर, धनराज धाकड, कैलाश धाकड, सुरजू धाकड, फाग्या पवाँर, मधू मानकर, भभीचन्द नरवरे, महेश मानकर, लोटन पटवारी, धनराज सोनी, मुन्ना नरवरे, मसतराम सोलंकी, दशरथ नरवरे, मनोज बनखेडे, बाबूलाल सोलंकी, राजू डडोरे, सहित सैकडो कृषको की फसल बर्बाद हो गई।