मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालाघाट एवं बैहर के कन्या शिक्षा परिसर का किया वर्चुअल लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालाघाट एवं  बैहर के कन्या शिक्षा परिसर का किया वर्चुअल लोकार्पण
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालाघाट एवं  बैहर के कन्या शिक्षा परिसर का किया वर्चुअल लोकार्पण
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालाघाट एवं  बैहर के कन्या शिक्षा परिसर का किया वर्चुअल लोकार्पण
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बालाघाट एवं  बैहर के कन्या शिक्षा परिसर का किया वर्चुअल लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज 13 अक्टूबर को प्रात: 10.30 बजे भोपाल स्थित मिंटो हॉल में आदिम-जाति कल्याण विभाग और स्कूल शिक्षा विभाग के 497 करोड़ 70 लाख रुपये की लागत से नव-निर्मित 145 शैक्षिक भवनों का वर्चुअल लोकार्पण किया। प्रदेश के जिन नव-निर्मित शैक्षिक भवनों का लोकार्पण किया गया है, उनमें आदिम-जाति कल्याण विभाग के 357 करोड़ 9 लाख रुपये लागत के 13 विशिष्ट आवासीय विद्यालयों (कन्या शिक्षा परिसरों), 4 करोड़ 63 लाख रुपये के 3 छात्रावास के नवीन भवनों और स्कूल शिक्षा विभाग के 135 करोड़ 98 लाख रुपये लागत के 129 हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी शाला भवन शामिल है। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा वर्चुअल लोकार्पण किये गये भवनों में बालाघाट-गोंगलई का कन्या शिक्षा परिसर एवं बैहर का कन्या शिक्षा परिसर भवन शामिल है। गोंगलई में कन्या शिक्षा परिसर का भवन 27 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत से एवं बैहर का कन्या शिक्षा परिसर भवन भी 27 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत से बनाया गया है। कन्या शिक्षा परिसर में अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग की छात्राओं के लिए कक्षा 06 से 12 वीं तक सीबीएसई पाठ्यक्रम में अध्ययन एवं आवास की सुविधा उपलब्ध है। बालाघाट-गोंगलई एवं बैहर के कन्या शिक्षा परिसर का भवन बनकर तैयार होने से छात्राओं को अध्ययन के लिए अब बेहतर सुविधा एवं अच्छा वातावरण मिलेगा। कन्या शिक्षा परिसर भवन के वर्चुअल लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान बैहर में जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्रीमती अनुपमा नेताम, पूर्व विधायक श्री भगत सिंह नेताम, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती नेहा सिंह, नगर पंचायत बैहर के अध्यक्ष श्री गणेश मरावी, बैहर एसडीएम श्री गुरूप्रसाद, सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण श्री सुधांशु वर्मा, बालाघाट के कार्यक्रम में सहायक संचालक श्री विनय रहांगडाले, परियोजना क्रियान्वयन ईकाई के कार्यपालन यंत्री श्री गायकवाड़, प्राचार्य श्री वाय के डोंगरे उपस्थित थे।