डॉ. राजा धुर्वे ने उठाया सराहनीय कदम शिक्षक स्वर्गीय रामप्रसाद उइके जी के दोनों बच्चों की पढ़ाई का उठाया बीड़ा । कहा यही होगी असली श्रद्धांजलि ।

एमसीआई बैतूल कु.दिव्यांशी उइके और हिमांशु उइके को शिक्षा के क्षेत्र में किसी भी प्रकार की समस्या नही आने देगी:डॉ.राजा धुर्वे

डॉ. राजा धुर्वे ने उठाया सराहनीय कदम शिक्षक स्वर्गीय रामप्रसाद उइके जी के दोनों बच्चों की पढ़ाई का उठाया बीड़ा । कहा यही होगी असली श्रद्धांजलि ।
बैतूल : जिले की अग्रसित और समाज सेवी संस्था एमसीआई कोचिंग संस्थान जो जिले व जिले व जिले बहार भी शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत है । एमसीआई के संचालक और समाज सेवी डॉ. राजा धुर्वे और सहयोग आशीष धुर्वे व टीम बैतूल ने फिर एक सराहनीय कार्य किया हैं । कुछ दिन पहले एक कार दुर्घटना में शिक्षक रामप्रसाद जी की मृत्यु हो गयी थी । इस दुःखद परिस्थितियों में समाज मे सहयोग के लिये सदैव तैयार डॉ. राजा धुर्वे व टीम के द्वारा सराहनीय कार्य करते हुए उन्होंने कहा कि : हम शिक्षक स्वर्गीय श्री रामप्रसाद उइके जी को वापस नहीं ला सकते,परंतु उनके परिवार को दुख में सहयोग कर उनका दुख कम कर सकतें हैं। हमारी एमसीआई टीम उनके बच्चों की शिक्षा पर किसी भी प्रकार की समस्या नही आने देंगी,स्वर्गीय श्री रामप्रसाद उइके जी ग्राम खैरा के हाइस्कूल में प्रभारी प्राचार्य थे,जो कक्षा 12 वी का पेपर लेने मोहटा जा रहे थे । परीक्षा पेपर को लेकर वापस स्कूल की तरफ ले जाते समय इनका सुबह कार एक्सीडेंट में देहांत हो गया था । एमसीआई टीम बैतूल के द्वारा अभी हाल ही में सड़क दुर्घटना में हमेशा के लिए परिवार और पूरा समाज को छोड़कर चले गए स्वर्गीय श्री रामप्रसाद उइके जी के परिवार से मिलकर उन्हें हमेशा उनके सभी प्रकार के दुःख सुख में सहयोग देने का भरोसा दिलाया । एमसीआई टीम के द्वारा दुखी परिवार को आर्थिक सहयोग के रुप मे 5 हजार रुपए प्रदान किया गया,एवँ एमसीआई टीम ने स्वर्गीय श्री रामप्रसाद उइके जी की धर्मपत्नी श्रीमती भागवंती उइके जी को विश्वास दिलाया कि उनके बच्चें कु.दिव्यांशी उइके और हिमांशु उइके की शिक्षा पर किसी भी प्रकार की समस्या नही आने देंगे,हम उनके बच्चे को पढ़ा लिखा कर काबिल बनाने में सहयोग करेंगे ताकि वो अपने पैरों पर खड़े हो सकें।