जादू टोने के शक में हत्या का प्रयास आरोपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा मैं तो घर पर ही सो रहा था पुलिस जबरन उठा लाई

जादू टोने के शक में हत्या का प्रयास आरोपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा मैं तो घर पर ही सो रहा था पुलिस जबरन उठा लाई

बोरदेही : बोरदेही के पीडित मगंल पिता भैयालाल ककोडिया उम्र 50 साल निवासी भुमकाढाना थाना बोरदेही को दिनांक 01,02.10.2020 को अपने खेत के मकान बरछी मे अपने पुत्र शिवराम ककोडिया उम्र 12 साल के साथ सोया था और परिवार अपने गांव के मकान पर सो रहे थे घर के अंदर और भी छोटे बच्चे सोये थे की रात्रि करीब 12 से 1.00 बजे के आस पास आरोपी रोशन उइके एंव सुकलाल उइके निवासी भुमकाढाना ने कुल्हाडी से सिर , मुंह पर प्राण घातक चोट पहुचाई जो घटना करते उसके साथ सोया पुत्र शिवराम ककोडिया उम्र 12 साल ने पीडित को मारते देखा पीडित द्वारा कुल्हाडी को पकड ली गई हल्ला सुनकर उसके छोटे बच्चे भी आये उक्त आरोपीगण अंधेरे का फायदा उठाकर खेत मे भाग गये पीडित द्वारा ऐंबुलेंस 108 को फोन करा उससे शासकीय अस्पताल आमला बाद इलाज पश्चायत रीफर करने पर मैन अस्पताल बैतूल भर्ती किया गया जहां पर अपराध क्र 0/2020 धारा 450,307,34 भादवि का कायम किया गया थाना हाजा पर असल अपराध 280/2020 धारा 450,307,34 का कायम किया गया दौरान विवेचना के पाया गया की घटना के लगभग तीन वर्ष पूर्व पीडित मंगल ककोडिया द्वारा आरोपी रोशन एंव सुकलाल के पिता को इस अशंका पर घर लाकर हाथ पैर बांधकर मार पीट की थी उसी रंजीश के कारण उक्त आरोपीगणो ने घटना को अंजाम दिया है दोनो ही पक्ष खुलकर बोल नही पा रहे लेकिन दोनो ही पक्ष एक दूसरे पर जादू टोना की अशंका जहिर करते है दोनो ही पक्ष से तीन -तीन मौते हो गई है । आरोपीगणो को यह अंशका है की पीडित मंगल ककोडिया जादू टोना करता है इस कारण ही आरोपीगणो के भाई पनि एंव बच्चो की मौत हुई है इसी अशंका के कारण पीडित को जान से मारने की नियत से घटना को अंजाम दिया है विवेचना के दौरान आरोपी रोशन पिता भोगीलाल उइके उम्र 50 साल , सुकलाल पिता भोगीलाल उइके उम्र 35 साल दोनो निवासी भुमकाढाना को गिरफ्तार करने मे प्रभारी उनि व्ही पी मौर्य , सउनि एसएस पटेल , आर 667 सेवाराम का विशेष योगदान रहा है । आरोपी को दिनांक 04.10.2020 को गिरफ्तार किया गया एंव घटना में प्रयुक्त आलार्जरर भी जप्त कर लिये गये है आरोपीगणो को दिनांक 05.10.2020 को माननीय न्यायालय आमला पेश किया जायेगा ।

हत्या के प्रयास के मामले में दोनों आरोपियों ने भरी प्रेस कांफ्रेंस में यह कह दिया कि वह तो घर पर ही सो रहे थे पुलिस ने जबरन उन्हें उठा लाया और जबरन मामला लाद दिया जबकि उनका कहना भी है कि उनका इस हत्या के प्रयास से कोई लेना-देना नहीं और जो रंजिश थी वह बरसों पुरानी है वह खत्म हो चुकी थी दोनों परिवारों का घर पर आना जाना आज भी चालू था