मुलताई में सम्पन्न शांतिसमिति

राम जन्मभूमि न्यायिक फैसला एवं कार्तिक पूर्णिमा को लेकर पवित्र नगरी में हुई शांति सभा की बैठक प्रशासनिक अधिकारियों ने दी शांति एवं व्यवस्था बनाए रखने की समझाइश

मुलताई - पवित्र नगरी में शनिवार को शाम 5 बजे से जनपद कार्यालय में सर्वदलीय शांति सभा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में प्रशासन की ओर से अनुविभागीय अधिकारी सीएल चनाप, एसडीओपी अनिल शुक्ला, तहसीलदार सुधीर जैन, मुख्य नगरपालिका अधिकारी राहुल शर्मा एवं थाना प्रभारी मनोज सिंह उपस्थित रहे। वही नगर के प्रबुद्ध लोगों में पूर्व विधायक पी आर बोड़खे, हाजी शमीम खान, इकबाल चौहान, जगदीश पीएल पवार, राजेश बारंगे, दिनेश कालभोर, सुमित शिवहरे उपस्थित रहे। बैठक को संबोधित करते हुए एसडीओपी अनिल शुक्ला ने कहा कि वह 2 वर्षों से मुलताई में पदस्थ हैं और उन्होंने देखा है कि शहर में जातिगत एवं धार्मिक मामलों को लेकर किसी प्रकार का विवाद बहुत ही कम होता है। यहां के निवासी आपस में हमेशा से मिलजुल कर रहते आए हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में राम जन्मभूमि मामले को लेकर न्यायिक फैसला आने वाला है, हो सकता है कि कुछ असामाजिक तत्व सोशल मीडिया में आपत्तिजनक पोस्ट डाल कर लोगों को भ्रमित करने का कार्य कर सकते हैं लेकिन हम सबको इस पर विशेष ध्यान देते हुए ऐसे पोस्ट तुरंत ही डिलीट करवाने हेतु तत्पर रहना चाहिए। बैठक में उपस्थित अनुविभागीय अधिकारी सीएल चनाप ने कहा कि मुलताई जिस तरह से पवित्र नगरी घोषित की गई है यहां के जन भी वैसे ही पवित्र मन के हैं। उन्हें पूरी उम्मीद है कि जो भी फैसला आएगा सभी मिलजुल कर उसका स्वागत करेंगे। बैठक में आने वाले ईद उल नबी त्यौहार को शांति एवं सदभावना से मनाए जाने बाबत चर्चा की गई। ईद उल नबी पर निकलने वाले जुलूस के मार्ग के एवं सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस विभाग के आला अधिकारियों एवं नगर के गणमान्य नागरिकों के बीच चर्चा हुई। बैठक में नगर के लगभग 100 से अधिक लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।